display ads

(Sad Shayari) Beautiful heart touching Sad Shayari in Hindi with Beautiful images

दोस्तों मैंने आपके लिए एक बहुत ही अच्छी बात लिखी है आप इसे ज़रूर पढ़ें और अपनी राय कॉमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखें आपका साथी MRS.
फ्रेंड्स दिल एक मासूम बच्चे जैसा होता है अगर इसे थोड़ी भी तकलीफ होती है तो इंसान बहुत ज़्यादा दर्द महसूस करता है।लेकिन अगर इसी दिल को कोई तोड़ दे तो इंसान बे बस और तन्हा हो जाता है इसी तरह प्यार करने वाले का दिल अगर कोई महबूबा तोड़ देती है तो आशिक़ के दिल की हालत बेजान सी हो जाती है और वह ज़िंदगी को एंजॉय के साथ जीना छोड़ देता है ऐसी हालत में इंसान अपने दिल की कैफियत को शायरी में ढालने की कोशिश करता है जब वह कोई शायरी कहता है तो उसमें अपने वफ़ा ओर अपने महबूब की बेवफ़ाई का ज़िक्र करता है जिसे हम उदास शायरी कहते हैं और इंग्लिश में ( Sad Shayari ) kahte Hain.
ऐसी ही शायरी हम आपके लिए इस वेबसाइट लेकर आएं हैं उम्मीद करता हूं आपको शायरी पसंद आएगी।

Note
इस जैसी शायरी अगर आप अपने लिए बनवाना चाहते हैं तो पोस्ट के आखरी में एक लिंक दी गई है जिस पर आप क्लिक कर के हम से अपनी मन पसंद की शायरी बनवा सकते हैं


दिल से कुछ देर तुझे जुदा रखूँ
मेरे बस में नहीं कि मैं तुझे खफा रखूँ
नहीं है कुछ भी मेरे दिल में सिवा तेरे
मैं तुझे भुला दूँ तो याद क्या रखूँ


पता है की टूटकर ही वापस आएगा,
फिर भी हँस के दे देता हूँ उसे ये दिल बार-बार



भरी महफ़िल में कर रही थी वो ज़िक्र अपनी वफ़ा का
नज़र मुझ पर क्या पड़ी कमबख्त ने बात ही पलट दी


काँच का तोहफा ना देना कभी
रूठ कर लोग तोड दिया करते हैं
जो बहुत अच्छे हो उनसे प्यार मत करना
अकसर अच्छे लोग ही दिल तोड दिया करते है


जिसे चाहा काश वो हमारा होता
मेरी खुवाहिशों का भी कोई किनारा होता
ये सोच कर मैंने उस को रोका नहीं
दूर ही क्यों जाता अगर वो हमारा होता



दर्द सबके एक है
मगर हौंसले सबके अलग अलग है
कोई बिखर के मुस्कुराया
तो कोई मुस्कुरा के बिखर गया 


लोग मजबूर है 
पत्थर मारेंगे जरूर,
क्यों ना शीशों से कहा जाए
वो टूटा ना करें।


तू मुझे क्यों इतना याद आता है
तू मुझे क्यों इतना तड़पाता है
माना के ज़िन्दगी है सिर्फ तेरे लिए
फिर मुझे तू क्यों इतना रुलाता है


जिसे चाहा काश वो हमारा होता
मेरी खुवाहिशों का भी कोई किनारा होता
ये सोच कर मैंने उस को रोका नहीं
दूर ही क्यों जाता अगर वो हमारा होता


तन्हाई से इस कदर मोहब्बत हो गयी हमेँ
की अपना साया भी साथ हो तो भीड़ सा लगता है


तेरी यादों में,मैं रात भर जागता रहा
पलको पर ओस लिए,आसमां निहारता रहा
मुझको नहीं पता क्या हो गया मुझे
तेरे इंतजार में राह अब तक ताकता रहा


Jindgi Ne kai Sawaal Badal Diye
Waqt Ne Mere Halaat Badal Diye
itne Bure Nhi the Ham Yaron
Na jane kyon Logon Ne Apne khyalaat Badal Diye



More

Post a Comment

1 Comments