display ads

Hindi Love Shayari





मैं तोड़ लेता अगर तू गुलाब होती
मे जवाब बनता अगर तू सवाल होती
सब जानते हैं मैं नशा नही करता
मगर में भी पी लेता अगर तू शराब होती



Main tod leta agar tu fulab hoti
Main jawab banta agar tu sawal hoti
Sub jante hain main nasha nahi karta
Magar main bhi pi leta agar tu shrab hoti



तेरे हर दुख को,अपना बना लूँ
तेरे हर गम को,दिल से लगा लूँ
मुझे करनी आती नहीं, चोरी  वरना
मैं तेरी आँखों से हर आँसू चुरा लूँ



Tere Har Dukh ko Apna Bana Lu
Tere Har Gum ko Dil se Laga Lu
Mujhe karni aati Nahi Chori Warna
Main Teri Aankho Se Har Aansu Chura Lu




कोई हमदर्द ज़माने में न पाया
हसरत ही रही कोई तहे दिल से हमारा होता



Koi Hamdard Zamane Me Na Paya
Hasrat Hi Rahi Koi Tahe Dil Se Humara Hota




दिल की ख्वाहिश बस इतनी सी है मेरी
तुम बस मेरी बन जाओ,अंजाम कुछ भी हो



Dil ki Khahish Bas Itni si Hai Meri
Tum Bas Meri Ban Jao, Anjam kuch Bhi Ho




जीना तो पड़ेगा फ़कत दुनियाँ को दिखाने के लिये
वरना हमने कब चाही थी जिन्दगी उनके बिना



Jeena To Padega Fakat Duniya Ko Dikhane Ke Liye
Warna Humne Kab Chahi Thi Zindagi Unke Bina



कुछ उलझे सवालो से डरता हे दिल जाने
क्यों तन्हाई में बिखरता हे दिल
किसी को पाने कि अब कोई चाहत न रही
बस कुछ अपनों को खोने से डरता हे ये दिल




Kuch Uljhe Swalon Se Darta Hai Dil
Kyon Tanhai Me Bikhrta Hai Dil
Kisi ko Pane ki Ab koi Chahat Nahi Rahi
Bus Kuch Apno ko Khone Se Darta Hai Dil




मेरे दिल की इमारत की कुछ ईंटें टूट जाती हैं
न जाने रोज़ ही कितनी मेरी उमीदें टूट जाती हैं
हर सुब्ह हिला देता था ज़ंजीर ज़माना
क्यूँ आज दिवाने को जगाता नहीं कोई
अर्थी तो उठा लेते हैं सब अश्क बहा के
नाज़-ए-दिल-ए-बेताब उठाता नहीं कोई




सोचती बहुत हूं जब भी कुछ लिखती हूँ,अनगिनत खयाल मेरे  मन में आते ही रहते हैं, पल पल मेरे जहन से होकर मेरी कलम तक वो खुद ब खुद कागज पर भी यूह उतर आते हैं, पिरोती हूं उन्हें एक माला में फिर मोती के जैसा सजाती हूं, वो प्यार के भावों से एक नई दुल्हन की तरह कभी हंसाते हैं कभी किसी की याद में बहुत रुलाते हैं मेरे खयाल जब कविता बन जुबान से पन्नो पे आते हैं.






Post a Comment

1 Comments