display ads

Hindi Love Shayari


ज़िंदगी से सिकवा नही की उसने गम का आदि बना दिया
गिला तो उनसे हैं जिन्होंने रोशनी की उम्मीद दिखा के दिया ही बुझा दिया


दोस्ती करना हमे भी सिखा दो जरा,
उस दिल के कोने मे हमको भी बिठा दो जरा,
हम आपके दिल मे है की नही,
जुबान से ना सही SMS से तो बता दो जरा!


हमने अल्फाज़ो को बेवकूफ बनाकर
आंखों से प्यार किया था
लोग देखते रहे ख़ामोशी हमारी
हमने इशारों में प्यार किया था


प्यार किया था तो प्यार का अंजाम कहाँ मालूम था
वफ़ा के बदले मिलेगी बेवफाई कहाँ मालूम था
सोचा था तैर के पार कर लेंगे प्यार के दरिया को
पर बीच दरिया मिल जायेगा भंवर कहाँ मालूम था





Agar ho Mera Haath Kisi Ke Haath Me.
To Wo Hath Tumhara Ho.. AgarHum jiye Kisi Ke Sath.
To Wo Sath Tumhara Ho..
Agar Jude Mera Nam Kisi Ke Sath.
To Wo Nam Tumhara Ho..
Sapne To Bohat Dekhe He In Ankhon Ne
Koyi Sapna agar Such Ho To Wo
Tumhara Ho






सांस लेता हूं तो तेरी खुशबू आती हैं
फिर से तेरी याद बड़ा सताती हैं
कितना भी भूलना चाहता हूं तुझे
फिर से तेरी ख़ूबसूरती याद आती है


प्यार करके कोई जताए ये जरूरी तो नही
याद करके कोई बताये ये जरूरी तो नही
रोने वाला तो दिल में ही रो लेता है
आँख में आंसू आये ये जरूरी तो नही



मेरे जीने मरने में, तुम्हारा नाम आएगा
मैं सांस रोक लू फिर भी, यही इलज़ाम आएगा
हर एक धड़कन में जब तुम हो, तो फिर अपराध क्या मेरा,अगर राधा पुकारेंगी, तो घनश्याम आएगा
Agar ho Mera Haath Kisi Ke Haath Me.
To Wo Hath Tumhara Ho.. AgarHum jiye Kisi Ke Sath.
To Wo Sath Tumhara Ho..
Agar Jude Mera Nam Kisi Ke Sath.
To Wo Nam Tumhara Ho..
Sapne To Bohat Dekhe He In Ankhon Ne
Koyi Sapna agar Such Ho To Wo
Tumhara Ho




समझता नहीं ये दिल समझाने चले आओ
दो दिलों के फासले मिटाने चले आओ
जुनून ऐ इश्क में पागल हो गये हैं हम
अपनी बाहों में मुझे समाने चले आओ
ना दूर रह कर तड़पाओ ना दिल को तरसाओ
अपना बना के मुझे अपनाने चले आओ।



हमें कुछ पता नहीं है हम क्यों बहक रहे हैं
रातें सुलग रही हैं दिन भी दहक रहे हैं
जब से है तुमको देखा हम इतना जानते हैं
तुम भी महक रहे हो हम भी महक रहे हैं




रात आँखों में ढली पलकों पे जुगनूँ आए
हम हवाओं की तरह जाके उसे छू आए
बस गई है मेरे अहसास में ये कैसी महक
कोई ख़ुशबू में लगाऊँ तेरी ख़ुशबू आए


जब मोहब्बत बेहिसाब हो तो जख्मों का हिसाब क्या रखना
अक्ल कहती है कि मारा जायेगा, दिल कहता है कि देखा जायेगा














Post a Comment

1 Comments

  1. bahut achhi shayari hai bhai, aisi shayari bhejte raha kijiye

    ReplyDelete