display ads

Beautiful Love Shayari, Awesome love Shayari Images in Hindi with Beautiful Images, best Shayari Images 2019

Awesome love Shayari in Hindi with Beautiful Images
लव शायरी इमेज 


Kitni Mohabbat hai tumse, koi Safai Naa Denge hum
SAYE Ki Tarah Rahenge Tere Saath, Par DIKHAI Naa Denge hum
छलकते दर्द को होठों से बताऊं कैसे
ये खामोश गजल मैं तुमको सुनाऊं कैसे
दर्द गहरा हो तो आवाज़ खो जाती है
जख़्म से टीस उठे तो तुमको पुकारूं कैसे
मेरे जज़्बातों को मेरी इन आंखों में पढ़ो
अब तेरे सामने मैं आंसू भी बहाऊं कैसे
इश्क तुमसे किया,जमाने का सितम भी सहा
फिर भी तुम दूर हो हमसे,ये जताऊं कैसे
खामोश चेहरे पर हजारों पहरे होते हैं
हँसती आँखों में भी जख्म गहरें होते हैं
जिनसे अक्सर रूठ जाते है हम
असल में उनसे ही रिश्ते ज्यादा गहरे होते हैं
इश्क के बाजार में ना बिकने वाला एक सामान था मैं
वो लबों पर मुस्कान लेकर आया और मेरा खरीदार बन गया

DiL Us Se Na Lagana Jisay Apny Hussn Pe Ghuroor Ho
DiL Us Se Lagana Jisay Mohabbat Samajhny Ka Sha'oor Ho





बेपनाह मोहब्बत का एक ही उसूल है
मिले या ना मिले तू हर हाल मेँ कबूल है
हिसाब अपनी मोहब्बत का मै क्या दूँ
तुम अपनी हिचकियो को बस गिनते रहना
तुम दूर हो या पास फर्क किसे पड़ता है
तू जहां भी रहे तेरा दिल तो यहीं रहता है
महफ़िल में कई शायर है तो सुनाओ
हमे वो शायरी जो दिल के आर पार हो जाये
किसे हमदर्द कहें अपना जमाने में
सबने अपने मतलब का नकाब ओढ रखा है




पीने पिलाने की क्या बात करते हो
कभी हम भी पिया करते थे
जितनी तुम जाम में लिए बैठे हो
उतनी हम पैमाने में छोड़ दिया करते थे
दिल पे क्या गुज़री वो अनजान क्या जाने
प्यार किसे कहते है वो नादान क्या जाने
हवा के साथ उड़ गया घर इस परिंदे का
कैसे बना था घौंसला वो तूफान क्या जाने


कौन कहता है की आंसू मे वजन नही होता एक भी छलक जाता है तो मन ह्ल्का हो जाता है




उदास कर देती है हर रोज ये बात मुझे
ऐसा लगता है भूल रहा है कोई मुझे धीरे धीरे

वो बेवफा हमारा इम्तेहा क्या लेगी
मिलेगी नज़रो से नज़रे तो अपनी नज़रे झुका लेगी
उसे मेरी कबर पर दीया मत जलाने देना
वो नादान है यारो अपना हाथ जला लेगी
जरा जी के दिखाओ बिना महोब्बत के
तो पता चले जिंदगी क्या चीज होती है
प्यार तो सभी करते है
जिन्हें नही मिलता उनसे पूँछो
तो पता चले,महोब्बत क्या चीज होती है

कोई फर्क नहीं होता है ज़हर और प्यार में 
ज़हर पीने के बाद लोग मर जाते हैं और प्यार करने के बाद लोग जी नहीं पाते

तेरे दीदार का नशा भी अजीब हैं तु ना दिखे तो दिल तडपता हैं और तु दिखे हैं तो नशा और चढता है

نازنیں نگاہوں سے تونے جب ادهر دیکها
تونے اک نظر دیکها ہم نے پهر جگر دیکها
پار ہو گیا سیدهے جو نگاہوں سے نکلا
تیر نے نہ دل دیکها نہ مرا جگر دیکها
ये झूठ है की मोहब्बत किसी का दिल तोड़ती है
लोग खुद ही टूट जाते हैं मोहब्बत करते करते

जीत लेते हैं सैकड़ो लोगों का दिल हम शायरी करके
लेकिन लोगों को क्या पता अंदर से कितने अकेले है हम


एक खूबसूरत आवाज़
मैं अपनी ही उलझी हुई राहों का तमाशा
जाते हैं जिधर सब, मैं उधर क्यों नहीं जाता
बेनाम-सा ये दर्द ठहर क्यों नहीं जाता
जो बीत गया है वो गुज़र क्यों नहीं जाता
सब कुछ तो है क्या ढूँढ़ती रहती हैं निगाहें
क्या बात है मैं वक़्त पे घर क्यों नहीं जाता
वो एक ही चेहरा तो नहीं सारे जहाँ में
जो दूर है वो दिल से उतर क्यों नहीं जाता
मैं अपनी ही उलझी हुई राहों का तमाशा
जाते हैं जिधर सब, मैं उधर क्यों नहीं जाता
वो ख़्वाब जो बरसों से न चेहरा, न बदन है
वो ख़्वाब हवाओं में बिखर क्यों नहीं जाता

कोई तारा टूट के गिर गया कोई चांद छत से उतर गया
किसी आसमान के हाथ से जो बिखर गया वही हार हूं





Post a Comment

1 Comments