display ads

Urdu Love shayari

Nazar jise dhundhti thi,wo raste me yun mile
Ham nazar utha ke tadap gaye,wo nazar jhuka ke guzar gaye.


ये झूठ है के मुहब्बत किसी का दिल तोड़ती है
लोग खुद ही टुट जाते है मुहब्बत करते-करते


चाँद में अगर नूर न होता; ये तन्हा दिल मजबूर न होता; हम आपको शुभ रात्रि कहने जरूर आते; अगर आपका घर इतना दूर न होता।


अंग्रेजी में गुड नाईट । हिंदी में शुभ रात्री । उर्दू में शब्बा खैर । कन्नड़ में यारंदी । तेलगू में पदनकोपो । और अपनी स्टाइल में: . . . . . . चल लुढ़क ले अब ।


जब आंसू आए तो रो जाते हैं; जब ख्वाब आए तो खो जाते हैं; नींद आंखो में आती नहीं; बस आप ख्वाबो में आओगें; यही सोचकर हम सो जाते हैं। शुभ रात्रि।


वो फूलों वाला तकिया मोड़ के सोना; सपनों की रजाई ओढ़ के सोना; रात को ख्वाबों में हम भी आएंगे; इसीलिए थोड़ी जगह छोड़ के सोना। शुभ रात्रि!


खुदा हर बुरी नज़र से बचाये आपको; दुनिया की तमाम खुशियों से सजाये आपको; दुःख क्या होता है यह कभी पता न चले; खुदा ज़िंदगी में इतना हंसाये आपको। शुभ रात्रि!


चाँद का रंग है White; रात को चमकता है Bright; हमको देता है मस्त Light; मैं कैसे सो जाऊं आपको बिना कहे Good Night। शुभ रात्रि!


तेरी आरज़ू में हमने बहारों को देखा; तेरी जुस्तजू में हमने सितारों को देखा; नहीं मिला इससे बढ़कर इन निगाहों को कोई; हमने जिसके लिए सारे जहान को देखा। शुभ रात्रि!


इस प्यारी सी रात में; प्यारी सी नींद से पहले; प्यारे से सपनों की आशा में; प्यारे से अपनों को मेरी तरफ से 1 प्यारी सी; . . . . . . शुभ रात्रि।


जब दुनिया ये कहती है की हार मान लो तब आशा धीरे से कान में कहती है कि एक बार फिर से प्रयास करो । शुभ रात्रि।


चाँदनी रात में सोने से पहले; ख़्वाबों की दुनिया में खोने से पहले; मैंने सोचा तुम्हें याद दिला दूं; मैंने सोचा तुम्हें एहसास दिला दूं; सुसु करके सोना ताकी आपकी बेड गीली ना हो जाये। शुभ रात्रि।


ज़िंदगी के तीन खूबसूरत लम्हे: सुबह की नींद दोपहर की नींद और रात की नींद। शुभ रात्रि!


रात है काफी ठंडी हवा चल रही है; याद में आपकी किसी की मुस्कान खिल रही है; उनके सपनों की दुनियां में आप खो जाओ; आँख बंद करो और आराम से सो जाओ। शुभ रात्रि!


कुछ पाने के लिए कुछ खोना पड़ता है; मुस्कुराने के लिए भी रोना पड़ता है; यूं ही नहीं होता है सवेरा; सुबह होने के लिए रात भर सोना पड़ता है! शुभ रात्रि!


सारा दिन लग जाता है खुद को समेटने में; फिर रात को यादों की हवा चलती है और हम फिर से बिखर जाते हैं। शुभ रात्रि!


हो चुकी रात बहुत अब सो भी जाइये; जो है दिल के करीब उसके ख्यालों में खो भी जाइये; कर रहा होगा कोई इंतज़ार आपका; ख्वाबों में ही सही मिल तो आइये। गुड नाईट!


हम ने एक असूल पे सारी उम्र गुज़ारी है; जिस को अपना जान लिया फिर उस को परखा नहीं। शुभ रात्रि!


मीठी मीठी याद पलकों में सजा लेना; साथ गुज़रे पल को दिल में बसा लेना; चाहे ना आओ दिल में; मगर मुस्कुरा कर मुझे सपनो में बुला लेना। शुभ रात्रि!



आकाश के तारों में खोया है जहां सारा; लगता है प्यारा एक-एक तारा; उन तारों में सबसे प्यारा है एक सितारा; जो इस वक़्त पढ़ रहा है संदेश हमारा। शुभरात्रि!


चारो तरफ है फैली मून-लाइट; मच्छर भी देने को बेताब हैं तुम्हें लव बाईट; तकिया गले लगा के सोने का टाईट; अरे यार बोले तो स्वीट-ड्रीम वाली गुड नाईट। शुभ रात्रि!


आंसू होते नहीं बहाने के लिए; गम होते हैं पी जाने के लिए; कभी दिल से मत सोचना किसी को पाने के लिए; नहीं तो सारी जिंदगी बीत जाएगी उसको भुलाने के लिए! शुभ रात्रि!


अगर तुम एक पेंसिल बनकर किसी की खुशियाँ नहीं लिख सकते हो; तो कोशिश करो कि एक रबड़ बन के किसी के गम को मिटा दो। शुभ रात्रि!


पत्थर की दुनिया जज्बात नहीं समझती; दिल में क्या है वो बात नहीं समझती; तन्हा तो चाँद भी सितारों के बीच में है; पर चाँद का दर्द वो रात नहीं समझती। शुभ रात्रि!


गहरी थी रात लेकिन हम खोए नहीं; दर्द बहुत था दिल में पर हम रोए नहीं; कोई नहीं हमारा जो पूछे हमसे; जाग रहे हो किसी के लिए या किसी के लिए सोए नहीं। शुभ रात्रि!


चाँद ने कर दिया है तारों को Invite; सूरज ने पकड़ ली है सुबह की Flight; भगवान को याद कर लो और बंद कर दो Light; मेरी तरफ से आपको एक प्यारा सा Good Night! शुभ रात्रि!


छोड़ देंगे एक दिन तुमसे मोहब्बत करना यह वादा है मेरा; ज़रा ज़िंदगी का सांसों से रिश्ता तो टूटने दे। शुभ रात्रि!


प्यारे से दोस्त को सलाम हमारा; दिन कैसा रहा ये सवाल हमारा; कल फिर SMS भेजेंगे ये वादा हमारा; पर अभी गुड नाईट का प्यार सा पैगाम हमारा। शुभ रात्रि!


सपने वह नहीं होते जो हम सोते वक्त देखते हैं; बल्कि सपने वो होते हैं जो हमें सोने नहीं देते। शुभ रात्रि!


एक दिन हम सब एक दूसरे को सिर्फ यह सोचकर खो देंगे कि जब वो मुझे याद नहीं करते तो मैं क्यों करूँ? शुभ रात्रि।


ईश्वर का संदेश: तुम सोने से पहले सबको माफ़ कर दिया करो; तुम्हारे जागने से पहले मैं तुम्हें माफ़ कर दूंगा। शुभ रात्रि।


हो मुबारक आपको यह सुहानी रात; मिले ख्वाबों में भी खुदा का साथ; खुले जब आपकी मदहोश आँखें; तो ढेरों खुशियाँ हो आपके साथ। शुभ रात्रि!


हम तुम्हें पाकर खोना नहीं चाहते; जुदाई में आपकी रोना नहीं चाहते; तुम हमारे ही रहना हमेशा; हम भी किसी और के होना नहीं चाहते। शुभ रात्रि!


आज फिर सोने लगे तो तुम याद आ गए; ना जाने तुम मेरी नींद हो या दिल की धड़कन। शुभ रात्रि!


लोग कहते हैं रातों को सोकर सुकून मिलता है; हम वो वक़्त भी किसी की यादों में बिता देते हैं। शुभ रात्रि!


रात जब किसी की याद सताए; हवा जब बालों को सहलाये; कर लो आँखे बंद और सो जाओ; क्या पता जिस का है ख्याल वो आँखों में आ जाये। शुभरात्रि!


रब तू अपना जलवा दिखा दे; उसकी जिंदगी को अपने नूर से सजा दे; बस मेरे दिल की इतनी सी दुआ है मालिक; इस SMS पढ़ने वाले को आज रात बेड से नीचे गिरा दे। शुभ रात्रि!


मुझे सुलाने की ख़ातिर जब रात आती है; हम सो नहीं पाते रात खुद सो जाती है; पूछने पर दिल से यह आवाज़ आती है; आज दोस्त को याद कर ले रात तो रोज आती है। शुभ रात्रि!


दूर रहते हैं मगर दिल से दुआ करते हैं हम; प्यार का फ़र्ज़ दिल से अदा करते हैं हम; आपकी याद सदा साथ रखते हैं हम; दिन हो या रात आपको ही याद करते हैं। शुभ रात्रि!


More 

Post a Comment

0 Comments